img14

मैनपुरी।
यूपी की सियासत के दो सूरमा आपसी दुश्‍मनी को भुलाकर करीब 24 साल बाद आज चुनावी मंच पर साथ नजर आए। बीएसपी सुप्रीमो समाजवादी पार्टी (एसपी) के संरक्षक मुलायम सिंह के समर्थन में प्रचार करने के लिए मैनपुरी पहुंचीं । मुलायम सिंह ने भी मायावती के इस एहसान की जमकर प्रशंसा की और कहा कि इसे वह कभी भूल नहीं पाएंगे। मुलायम ने कहा कि मायावती ने हमेशा उनकी मदद की है।
मुलायम बोले-मायावती का हो सम्मान
मुलायम के भाषण में गेस्‍ट हाउस कांड की झलक भी नजर आई। उन्‍होंने एसपी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे मायावती का हमेशा सम्‍मान करें। मुलायम ने कहा, 'मुझे खुशी है कि बहुत दिन बाद हम और मायावती एक मंच पर हैं। हमारी आदरणीय मायावती जी आई हैं। हम उनका स्‍वागत करते हैं। मुझे बहुत खुशी हो रही है। मैं इसे कभी नहीं भूलूंगा। मायावती जी का आप लोग हमेशा सम्‍मान करना। मायावती जी ने हमारा बहुत साथ दिया है।'
'मैं मायावती का अहसान कभी नहीं भूलूंगा'
एसपी संरक्षक ने कहा, 'मैं मैनपुरी के मतदाताओं की ओर से उनका अभिनंदन करता हूं। मैनपुरी की जनता से कहूंगा कि ताली पीटकर मायावती का स्‍वागत करें। मुझे खुशी है कि बहुत दिनों बाद बहन मायावती जी और मैं साथ आए। मायावती जी आई हैं, उनका स्वागत है। वह मेरे लिए वोट मांगने आई हैं। मैं उनका अहसान कभी नहीं भूलूंगा।'
एसपी संरक्षक बोले-आखिरी बार लड़ रहा चुनाव
मुलायम ने कहा, 'मैनपुरी हमारा जिला हो गया है। चुनाव में हमें भारी बहुमत से जिता देना। पहले से ज्‍यादा बहुमत से। आपके कहने पर मैं आखिरी चुनाव लड़ रहा हूं। पहले जिताते आए हो, पहले से ज्यादा वोटों से जिताना। मेरे भाषण आप बहुत सुन चुके हैं, ज्यादा नहीं बोलूंगा। आज पुरुषों और महिलाओं का शोषण हो रहा है। बहुत जबर्दस्त तरीके से। इसके लिए हमने लोकसभा में सवाल उठाया। संकल्प लिया गया कि महिलाओं का शोषण नहीं होने दिया जाएगा।'
24 साल बाद मुलायम सिंह और मायावती एक साथ मंच पर
बता दें कि करीब 24 साल बाद मुलायम सिंह और मायावती एक साथ मंच पर नजर आए हैं। मायावती गेस्‍ट हाउस कांड को भुलाकर समाजवादी पार्टी के गढ़ मैनपुरी में मुलायम सिंह के लिए वोट मांगने पहुंचीं। मंच पर मुलायम सिंह के पहुंचने पर मायावती ने खड़े होकर उनका स्‍वागत किया।