img14

कानपुर। 
उत्तर प्रदेश के कानपुर में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सपा-बसपा गठबंधन और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। अमित शाह ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी उप्र की सभी सीटों पर जीत हासिल करेगी। विपक्ष की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि देश में वे परिवर्तन करने निकले हैं। नीति का पता नहीं है। नेतृत्व का पता नहीं है। जरा बताएं कि आपका पीएम पद का प्रत्याशी कौन है? गठबंधन से पीएम प्रत्याशी कौन है? 
शाह ने तंज कसते हुए कहा कि अगर गठबंधन की सरकार बनी तो सोमवार को बहन जी (मायावती) प्रधानमंत्री होंगी, मंगलवार को अखिलेश जी, बुधवार को ममता जी, गुरुवार को शरद पवार जी, शुक्रवार को देवगौड़ा, शनिवार को स्टालिन पीएम बन जाएंगे और रविवार को देश छुट्टी पर चला जाएगा। 
बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे अमित शाह ने कहा कि केंद्र की सरकार का रास्ता लखनऊ से होकर हो गुजरता है। 2014 के चुनाव अभियान की शुरुआत कानपुर की वीर भूमि से ही हुई थी और आज भी 2019 के चुनाव के लिए बूथ अध्यक्षों का पहला सम्मेलन कानपुर की धरती पर हो रहा है। 
अमित शाह ने कहा कि भाजपा गठबंधन करने वालों को जमीन पर लाने को तैयार हैं। विधानसभा चुनाव में भी यूपी के दो लड़के एक साथ आए थे और विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ गठबंधन हुआ था। आज भी गठबंधन हुआ है। उन्होंने कहा कि पहले गठबंधन किया। अब गठबंधन से संतुष्ट नहीं हैं तो अब महागठबंधन करेंगे। 
राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के चार बी हैं, बढ़ता भारत, बनता भारत लेकिन ठगबंधन में चार बी हैं- बुआ, बबुआ, भाई और बहन। गठबंधन चाहता है सरकार मजबूर हो, हम मजबूत सरकार चाहते हैं। मजबूत सरकार बनानी है तो कोई और नहीं बना सकता है। 
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि यह गठबंधन यूपी को पीछे खींचने के लिए हुआ है। यह जातिवाद, भ्रष्टाचार, परिवारवाद और अपराध का गठबंधन है। चारों इकट्ठा हो जाएं और जिसको एकत्र होना है हो जाए। भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता 50 फीसदी की लड़ाई लड़ने को तैयार है। 
उन्होंने कहा कि बुआ-भतीजा (मायावती और अखिलेश) ने जो गठबंधन किया है, यह गठबंधन यूपी ने देखा है। यूपी के लोगों ने गुंडों का नंगा नाच देखा है। कानून-व्यवस्था की बिगड़ी स्थिति देखी है। यूपी में कानून-व्यवस्था बहुत खराब थी। योगी ने गुंडों का पलायन करवा दिया है। अब गुंडे तख्ती लगाकर घूम रहे हैं कि उन्हें गिरफ्तार कर लो। 
शाह ने कहा कि पहले देश पर आतंकवादी हमला होता था, हमारे आतंकवादियों को जिंदा जला दिया गया। उरी पर हमला हुआ। हमारे सिपाहियों को जिंदा जलाया गया तो दस दिनों में ही मोदी जी ने फैसला ले लिया और हमारे रणबांकुरों ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया। वे बदला लेकर वापस आ गए। पहले केवल दो ही देश थे, अमेरिका और इजरायल जो अपने जवानों का बदला लेते थे, लेकिन अब उनकी सूची में तीसरा नाम हमारे महान भारत देश का भी बढ़ गया है। 
अमित शाह ने कहा कि राम जन्म भूमि पर कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे। वह कहते हैं कि कांग्रेसियों को राम जन्मभूमि का नाम लेने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर उसी स्थान पर भव्य मंदिर जल्द से जल्द बनें, इसके लिए बीजेपी कटिबद्ध है। 
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग पर कहा कि कांग्रेस नहीं चाहती कि अयोध्या में राम जन्मभूमि बने। कांग्रेस के वकील तारीखों में बदलाव कराते हैं। वह केस नहीं चलने देते। कबिल सिब्बल कह रहे हैं 2019 के बाद केस को चलाओ। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए चुनावी मुद्दा नहीं है। 
शाह ने कहा कि गठबंधन सरकार को देश की सुरक्षा की नहीं पड़ी है। भाजपा चाहती है कि देश से घुसपैठिए जाने चाहिए। इस देश से उन्हें निकालने के लिए एनआरसी लाए लेकिन राहुल बाबा ऐंड कंपनी हाय-तौबा कर रही है। सब सोच रहे हैं क्या खाएंगे, क्या पिएंगे? वह पूछते हैं कि क्या घुसपैठिए उनके मौसेरे भाई लगते हैं? भाजपा के लिए देश की सुरक्षा का मसला है। फिर से एक बार मोदी को कमान थमा दीजिए। एक-एक गुंडे और घुसपैठियों को चुनचुनकर निकालेंगे।