img14

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उनके भाई हासिद अहमद पर उनकी पत्नी हसीन जहां की ओर से लगाए गए घरेलू हिंसा के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। पश्चिम बंगाल के अलीपुर कोर्ट ने यह वारंट जारी किया है। हसीन जहां ने 2018 में मोहम्मद शमी पर मारपीट करने, रेप और हत्या की कोशिश करने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए थे और केस दर्ज करवाया था। मोहम्मद शमी के तलाक का केस भी कोलकाता कोर्ट में विचाराधीन है। शमी को मिला है सरेंडर के लिए 15 दिन का समय अलीपुर कोर्ट ने शमी को 15 दिन के अंदर सरेंडर करने को कहा है। कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया है कि अगर 15 दिनों के अंदर मोहम्मद शमी आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाए। फिलहाल मोहम्मद शमी भारतीय क्रिकेट टीम के साथ वेस्ट इंडीज दौरे पर हैं। कोलकाता पुलिस ने हसीन जहां की शिकायत के बाद मोहम्मद शमी पर आईपीसी की सात धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। हसीन ने अपने जेठ के खिलाफ भी दर्ज कराया है केस हसीन जहां ने मोहम्मद शमी के साथ ही उनके बड़े भाई के खिलाफ भी केस दर्ज करवाया था। शमी के खिलाफ आईपीसी की धारा 498 ए (दहेज उत्पीड़न) और धारा 354 (यौन उत्पीड़न) के तहत मामला दर्ज है, जबकि उनके भाई हासिद अहमद पर धारा 354 (यौन उत्पीड़न) के तहत मामला दर्ज है। पिछले साल हसीन जहां ने मोहम्मद शमी पर कई लड़कियों के साथ संबंध होने का आरोप लगाते हुए अपने फेसबुक पेज पर व्हाट्सएप चैट के स्क्रीन शॉट्स शेयर किए थे।