आस-पास

पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया 50 हजार का इनामी मान सिंह

कौशाम्बी कौशाम्बी के चरवा इलाके शनिवार देर शाम पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ (Encounter) हो गई. पुलिस व एसओजी टीम की संयुक्त करवाई में मुठभेड़ के बाद 50 हजार का इनामी बदमाश मानसिंह को धर दबोचा. पैर में गोली लगने से जख्मी बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के मखई का पूरा निवासी मानसिंह 50 हजार रुपये का इनामिया बदमाश है. उसके खिलाफ विभिन्न थानों में लूट आदि के मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस को मानसिंह की पिछले छह महीने से तलाश थी. जानकारी के मुताबिक मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि मानसिंह मूरतगंज की ओर से बाइक से आ रहा है. सूचना पर चरवा पुलिस के साथ एसओजी सक्रिय हुई और काजू के नजदीक ईंट भट्ठे के पास पुलिस ने मानसिंह को रोकने का प्रयास किया. पुलिस को देखते ही मानसिंह ने फायर झोंक दिया. पुलिस ने अपने बचाव में जवाबी फायरिंग की. इस दौरान एक गोली मानसिंह के पैर में जा लगी. इससे वह दर्द से कराह उठा. पुलिस ने घेराबंदी कर मानसिंह को पकड़ लिया. वहीं जख्मी बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. फिलहाल पुलिस की टीम बदमाश से पूछताछ में जुटी है.
Read More

शुक्लागंज के अस्पताल में भीषण आग, अफरातफरी और जाम

उन्नाव। जिले के शुक्लागंज कस्बे में राजधानी मार्ग पर स्थित सुषमा हॉस्पिटल एंड नर्सिंग होम में रविवार रात आग लगने से भगदड़ मच गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। धुएं से मरीजों का दम घुटने लगा। अस्पताल की खिड़की और पड़ोस की दीवार तोड़कर 20 मरीजों को सीढ़ी के सहारे सुरक्षित निकाला गया। एफएसओ के मुताबिक, शॉर्ट सर्किट से आग लगने की आशंका है। अस्पताल में आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे। उन्नाव के एसपी विक्रांतवीर भी घटना की जानकारी पर पहुंचे। आदर्श नगर में डॉ. सुषमा का नर्सिंग होम है। इसमें बेसमेंट, ग्राउंड और तीन फ्लोर बने हैं। बेसमेंट में बिजली के मीटर व जनरेटर हैं। ग्राउंड फ्लोर पर कार्यालय, प्रथम व द्वितीय तल पर मरीज और तृतीय तल पर डॉक्टर का आवास है। रविवार को यहां 20 मरीज भर्ती थे। रात करीब 8 बजे बेसमेंट में लगे मीटर में शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई। देखते ही देखते पूरी बिल्डिंग में धुआं भर गया। अस्पताल में चीख-पुकार मच गई। लोग इधर-उधर भागने लगे। बॉलकनी से निकाले मरीज सूचना पर उन्नाव से फायर ब्रिगेड की तीन गाड़ियां पहुंचीं। फायर कर्मियों ने अस्पताल की खिड़की और दीवार तोड़कर कई मरीजों को सीढ़ी के सहारे बॉलकनी से निकाला। कई मरीजों को पड़ोस के रमेश दीक्षित और पड़ोस की बिल्डिंग की छत से उतारा गया। मरीजों को निकालकर पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। फायर ब्रिगेड जवानों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। तब तक बेसमेंट और पहली मंजिल पर रखे फर्नीचर, दवा काउंटर जल गए। गंगाघाट थाने के इंस्पेक्टर सतीश गौतम ने बताया कि अस्पताल को बंद करा दिया गया है। आग सिर्फ बेसमेंट व ग्राउंड फ्लोर तक पहुंची थी। नहीं चले उपकरण, मिल चुका नोटिस अग्निशमन अधिकारी (एफएसओ) शिवदरस प्रसाद के मुताबिक अस्पताल में लगे फायर इंस्टीग्यूशर चले ही नहीं। आग से बचाव के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे। डेढ़ महीने पहले फायर विभाग ने अस्पताल प्रशासन को नोटिस भी दिया था। इसके बावजूद आग बुझाने के इंतजाम नहीं किए गए। अस्पताल में पानी की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। अस्पताल प्रबंधन को फिर नोटिस दिया जाएगा। प्राथमिक जांच में पता चला कि शॉर्ट सर्किट से आग लगी थी। अक्तूबर में भी लग चुकी आग मोहल्ले के अंकित ने बताया कि वह 29 अक्तूबर को अपनी बहन की डिलीवरी कराने आया था। उस वक्त भी शॉर्ट सर्किट से अस्पताल में आग लगी थी। इसके बावजूद आग बुझाने की पूरी व्यवस्था नहीं थी। अग्निशमन अधिकारी के मुताबिक अस्पताल में धुआं निकलने की कोई व्यवस्था नहीं थी। इसलिए आस-पास की खिड़की और दीवार को तोड़कर धुआं निकालने का रास्ता बनाया गया। धुआं भरने से आग बुझाने में काफी दिक्कत हुई। राजधानी मार्ग पर अफरातफरी आग लगने से पूरे इलाके में अफरातफरी मच गई। उन्नाव और कानपुर जाने वाले लोग भी रुक गए। आस-पास के लोगों ने आग और धुएं के बीच अस्पताल के अंदर घुसकर मरीजों को निकाला। आग बुझाने में आस-पास के कई लोग मामूली रूप से झुलस भी गए। बेहाल मरीजों को आस-पास के लोगों ने निकालकर पानी पिलाया और अस्पताल ले गए।
Read More

दहेज न मिलने से नाराज पति ने पत्नी को दिया तीन तलाक, पुलिस ने केस दर्ज कर शुरू की जांच

कन्नौज। जिले के छिबरामऊ में एक महिला को पति ने दहेज की मांग को लेकर तीन तलाक दे दिया। पुलिस ने इस मामले में परिवारवालों पर केस दर्ज कर लिया है। तीन तलाक पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसका पति नया बिजनेस शुरू करने के लिए पैसे की मांग कर रहा था। उसने एक लाख रुपए की मांग की थी। इसके लिए उसने महिला को कई बार पीटा। जिले के विरतिया ऊंचा निवासी साजिया बानो ने बताया कि चार जुलाई 2018 को उसकी शादी जिला फरुखाबाद थाना जहानगंज के गांव करीमगंज निवासी मोहम्मद अजहर खां से हुई थी। ससुरालीजन एक बुलेट मोटर साइकिल व एक लाख रुपए की मांग करने लगे। पूरी न होने पर उसे हाइवे के पास छोड़कर चले गए। एसीजेएम न्यायालय के आदेश पर दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा 22 जुलाई 2019 को दायर किया गया। कोर्ट में केस करते ही पति ने की अभद्रता कोर्ट ने पत्रवली सुलह समझौते को कन्नौज भेजी। इससे ससुरालीजन नाराज हो गए। आठ अगस्त को करीब 11 बजे उनके पति मोहल्ला विरतिया में घर पर आए तथा अभद्रता की। इसके बाद तीन बार मैं तुम्हें तलाक देता हूं कहकर चले गए। जाते समय जान से मारने की धमकी भी दी। कन्नौज के एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि एक महिला ने दावा किया है कि उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया है। पति समेत परिवार के छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। शाजिया के पिता राहत खान ने कहा कि हम उनकी मांगों को पूरा कर पाने में असमर्थ हैं। बेटी के ससुराल के लोगों ने हमसे बुलेट मोटर साइकिल, सोने की चेन और एक लाख रुपए की मांग की। जब इस बात का मुझे पता चला तो मैंने कह दिया कि मेरे पास इतने पैसे नहीं हैं। इसके बाद उन लोगों ने उसे प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। मैंने उसे वापस घर बुला लिया। बेटी के पति घर आए और दोबारा पैसे की मांग की।
Read More

इटावा से दो कैदी हुए फरार, भागने के दौरान एक की ट्रेन से कटकर मौत

इटावा। जिला कारागार से शनिवार रात दो विचाराधीन कैदी फरार हो गए।वहीं, भागने के दौरान एक कैदी की ट्रेन से कटकर मौत हो गई, जबकि दूसरेकैदी की तलाश में पुलिस टीमें छापे मार रही हैं। जेल प्रशासन ने कैदियों के भागने की घटना को बड़ी चूक होना स्वीकार किया है।दोनोंही हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे जेल अधीक्षक राजकिशोर सिंह ने बताया कि जिला कारागार में औरेया जिले केफफूंद निवासीरामानंद और इटावा जिले के इकदिल निवासीचंद्रप्रकाश उर्फ चंदूबैरक-5 में कैद थे।देर रात दोनों कैदी जेल की दीवार को कूदकर फरार हो गए। कैदियों ने दीवार फांदने के लिए पेड़ की टहनियों और चादर का इस्तेमाल किया। रात मेंडिप्टी जेलर राउंड पर आए,तब घटना का पता चला।उन्होंने बताया कि जब कैदियों की तलाश के लिए पुलिस रेलवे स्टेशन पर गई तो वहां कैदी रामानंद की ट्रेन के नीचे आने से मौत होना बताया गया। जेल अधीक्षक नेइस मामले में जेल प्रशासन की बड़ी लापरवाही स्वीकार की है।उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।जेल प्रशासन की तहरीर पर पुलिस ने फरार कैदी के खिलाफ केसदर्ज कर लिया है।
Read More

हादसे के बाद कार में लगी आग, युवक की जिंदा जलकर हुई मौत

इटावा। जिले के बकेवर थानाक्षेत्र मेंशनिवार सुबह एक तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़ी ट्रक में घुस गई। हादसे के बाद कार और ट्रक में आगलग गई। आग की चपेट में आने से कार सवार शख्स कीजिंदा जलकर मौत हो गई।राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और फायर ब्रिगेड को बुलवाकर आग को बुझया।लेकिन, तब तक कार पूरी तरह से जल चुकी थी। पुलिस ने बताया कि यह घटना बकेवर थाना क्षेत्र के कानपुर हाईवे की है।तेज रफ्तार कारकानपुर हाईवे पर खड़ी ट्रक में घुस गई। इस हादसे में कार चालक की जिंदा जलकर मौत हो गई हैं।मृतक की पहचान नहीं हो पाई है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है.
Read More

कन्नौज में तेज रफ्तार एंबुलेंस ने पिता-पुत्र को रौंदा, दोनों की मौत

कन्नौज। जिले के छिबरामऊ इलाके में बुधवार देर रात भीषण सड़क हादसा हुआ। यहां तेज रफ्तार एंबुलेंस ने पिता-पुत्र को रौंद दिया। हादसे में पिता की मोत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि पुत्र को आनन फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि मोहल्ला ऊंचा बिरतियां निवासी तीस वर्षीय अल्लाह रक्खा पुत्र कमरुद्दीन अपने दो वर्षीय पुत्र अहमद रजा के साथ नुमाईश देखकर वापस घर लौट रहे थे। जैसे ही एन एच 91 जीटी रोड पर फर्रुखाबाद चौराहे पर मॉडल शॉप के सामने यह लोग पहुंचे ही थे, उसी वक्त पीछे से तेज रफ़्तार आ रही एम्बुलेंस ने पिता पुत्र को टक्कर मार दी और उनको रौंदते हुई गुजर गई। पिता अल्लाह रक्खा की मौके पर ही मौत हो गई जब कि उसका दो वर्षीय मासूम अहमद रजा गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर डॉयल 100 पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल अहमद रजा को तुरन्त 100 शैय्या अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।
Read More

फ़तेहपुर में तेज रफ्तार ट्रक और बस की टक्कर; सात की मौत, 35 घायल

फतेहपुर। जिले में बुधवार की दोपहर चांदपुर थाना इलाके के जहानाबाद मार्ग पर सवारियों से भरी एक प्राइवेट बस औरविपरीत दिशा से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक में आमने-सामने जोरदार टक्कर हो गई। इसमें सात यात्रियों की मौत हो गई। जबकि करीब 35 लोग घायल हुए हैं। यह घटना बिलारी मोड़ पर हुई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने रेस्क्यू शुरू किया है। घायलों को कानपुर हैलट अस्पताल भेजा गया है। सीएम योगी ने हादसे पर दुख जताया है। जहानाबाद जा रही थी बस प्राइवेट बस बुधवार की दोपहर फतेहपुर से वाया अमौली होकर जहानाबाद जा रही थी। बस में करीब 50 लोग सवार थे। बस अमौली से पहले कौह मोड़ के पास पहुंची थी कि, अचानक सामने से आए तेज रफ्तार ट्रक से टक्कर हो गई। दोनों वाहनों के परखच्चे उड़ गए। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।घायलों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। ट्रक ड्राइवर केबिन में ही फंस गया। उसे केबिन काटकर बाहर निकाला गया, तब तक उसकी मौतहो चुकी थी। हादसे के बाद से अमौली सठिगवां रोड पूरी तरह से जाम लग गया। सीएम ने समुचित इलाज के दिए निर्देश सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे में सात लोगों की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों कोहादसे में घायल हुए लोगों के उपचार के लिए निर्देश दिया है।
Read More

डिंपल यादव के गढ़ में पहुंची अनुप्रिया पटेल, कहा- कन्नौज की समस्याओं को कभी संसद में नहीं उठाया

कन्नौज। अपना दल (एस) की नेता एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने बुधवार को यहां भाजपा प्रत्याशी सुब्रत पाठक के लिए वोट मांगने पहुंची। इस अवसर पर उन्होंने महागठबन्धन की प्रत्याशी डिम्पल यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि वह तो संसद में समय ही नहीं देती हैं, तो आप लोगों की समस्या क्या सुलझाएंगी। उन्होंने कभी उन्होंने कन्नौज की समस्या को संसद में उठाया ही नहीं है। महागठबन्धन के सवाल पर उन्होंने बताया कि गठबन्धन तो 2017 में भी दावा कर रहा था और उनके दावों की हवा निकल गई थी। उस समय कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी का गठबन्धन था। इस बार के जो परिणाम होंगे वह सौ प्रतिशत अपना दल और भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में होंगे। अनुप्रिया पटेल ने प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले तो उन्हें यह जवाब देना चाहिए कि उनकी अपनी पार्टी की सरकार सबसे ज्यादा आजादी के बाद देश में रही है। बुन्देलखण्ड जिस स्थिति में है वह आज नहीं पहुंचा है। वह आजादी के बाद से ही उपेक्षित है। उनकी पार्टी ने सत्ता पाने के बाद भी वहां के लिए कुछ भी नहीं किया।
Read More

बिजली न देकर अंधेरे में डकैती डालते थे सपा-बसपा के लोग : योगी

फर्रुखाबाद।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश के विभाजन की मंशा के साथ कांग्रेस देशद्रोही तत्वों के साथ खड़ी है और सपा-बसपा का गठबंधन आतंकियों का हमपरस्त है। सपा बसपा की सरकारों ने प्रदेश को बिजली न देकर अंधेरे में डकैती डाली है। भाजपा की केंद्र सरकार ने सबका साथ सबका विकास के संकल्प के साथ काम किया है। भाजपा की सरकार ने किसी व्यक्ति, जाति या मजहब के लिए नहीं बल्कि देश के अंदर गांव, गरीब, किसान नौजवानों और महिलाओं समेत प्रत्येक नागरिक के विकास के लिए काम किया और आगे भी करेगी। वह शनिवार को फर्रुखाबाद में भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।
कांग्रेस सरकार ने देश के संसाधनों को लुटाया
मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदीजी की सरकारी से पहले दस वर्षों तक कांग्रेस के नेतृत्व की सरकार में अराजकता थी, कोई दिन ऐसा नहीं था जब भ्रष्टाचार के आरोप न लगते रहे हैं। आकंठ तक भ्रष्टाचार में डूबी सरकार देश के संसाधनों का लुटा रही थी। मनमोहन सिंह मंचों से घोषणा करते थे देश के संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। मैं पूछना चाहता हूं कि इतने बड़े लोकतंत्र में यदि जाति, मजहब को लेकर वो चलते हैं तो लोकतंत्र का इससे बड़ा उपहास दूसरा नहीं हो सकता है।
कांग्रेस मुक्त भारत का नारा चला था
मुख्यमंत्री ने कि 2014 के चुनाव में इस देश का कांग्रेस से विश्वास उठ गया था और कांग्रेस मुक्त भारत का नया नारा चला था। इसके बाद मोदीजी ने पीएम बनने के बाद कहा था कि मेरी सरकार किसी व्यक्ति जाति मजहब के लिए नहीं है। उन्होंने सबका साथ सबका विकास के तहत कार्यक्रमों को लागू किया। पांच साल में डेढ़ करोड़ गरीबों को आवास, चार करोड़ को निशुल्क विद्युत कनेक्शन, गरीब महिलाओं को रसोई गैस, साढ़े नौ करोड़ गरीबों को शौचालय, साढ़े बारह करोड़ किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के माध्यम से छह हजार सालाना देने की बात और आयुष्मान योजना में पचास करोड़ की जनता को पांच लाख रुपये का इलाज देकर सबका विकास का संकल्प पूरा किया है। एटा व हरदोई में मेडिकल कॉलेज भजपा सरकार ने शुरू किया है ताकि किसी भी गरीब को कहीं भी स्वास्थ्य सुविधा से वंचित न होना पड़े।

Read More

लोडर-ट्रक टकरायेः 4 मरे

जालौन। 
झांसी-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शुक्रवार को ट्रक और सवारियों से भारे एक लोडर में टक्कर हो गई। इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। जबकि छह लोग घायल हैं। सूचना पर पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। लेकिन डॉक्टरों ने सभी को मेडिकल कॉलेज झांसी रेफर कर दिया। तीन की हालत नाजुक है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 
यह घटना उरई कोतवाली इलाके के राहिया ग्राम के समीप की है। कालपी की ओर से एक लोडर सवारियों को लेकर उरई ओर आ रही थी। लेकिन, जेसे ही लोडर हाईवे से उतरकर उरई के मार्ग पर आया, तभी ट्रक से आमने-सामने की भीषण टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि, ट्रक पलट गया और लोडर के परखच्चे उड़ गए। जिससे उस पर सवार मानवेन्द्र यादव (28) निवासी ग्राम सधारा, ओमप्रकाश (28) निवासी ग्राम भदरेखी, कोमल (14) निवासी ग्राम सधारा व शिनाख्त रवींद्र (24) पुत्र भल्ले निवासी ग्राम भदरेखी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वहीं, दीक्षा, सज्जन, वीरु, विवेक, अदल, संजय को झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। उरई कोतवाल शिवगोपाल वर्मा ने बताया, शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतकों व घायलों के परिजनों को जानकारी दे दी गई है।

Read More