Today News

See More

एसिड अटैक पर 'छपाक' बनाने वाली दीपिका पादुकोण की टीम ने एक दिन में खरीदीं 24 तेजाब की बोतल!

हमारे देश में एसिड बड़ी आसानी से बिकता था, जिसकी वजह से लड़कियों पर एसिड अटैक (Acid Attack) की कई घटनाएं सामने आती थीं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एसिड बेचने और खरीदने दोनों के ही नियमों में कड़ाई की गई. फिल्‍म 'छपाक' (Chhapaak) से पहली बार प्रोड्यूसर बनीं एक्‍ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) ने अपनी इस फिल्‍म में भी ऐसी ही एक एसिड अटैक सर्वाइवर की भूमिका निभाई है. लेकिन अब एक चौंकाने वाला सच सामने आया है. खुद दीपिका पादुकोण की टीम तेजाब खरीदने निकली तो एक दिन में ही पूरी 24 बोतल तेजाब (24 acid bottles) खरीद लाई. दरअसल इस फिल्‍म के दौरान दीपिका ने अपनी टीम के साथ एक स्टिंग ऑपरेशन किया जिसमें उनकी टीम के कुछ लोग भेस बदलकर दुकानों पर तेजाब खरीदने निकले. इस स्टिंग ऑपरेशन में सामने आया कि दुकानों पर अब भी बड़ी आसानी से तेजाब मिल रहा है. इतना ही नहीं, तेजाब की इन बोतलों को बेचने के लिए कोई नियम भी नहीं अपनाए जा रहे हैं. दीपिका की टीम के ये लोग हाउसवाइफ, मकैनिक, स्‍टूडेंट, बिजनेसमैन बनकर यहां पहुंचे. दीपिका ने खुद इस स्टिंग ऑपरेशन में हिस्‍सा लिया और कार में बैठकर ये सब देखा. आप भी देखिए इस स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो. सुप्रीम कोर्ट के कानून के बाद एसिड बेचने और खरीदने, दोनों पर ही सख्‍त नियम हैं. दुकानदार को तेजाब बेचने के लिए लाइसेंस की जरूरत है. जबकि तेजाब खरीदने वालों को आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ दिखाना जरूरी है. इस वीडियो में खरीदने वाले लोग ये तक पूछते दिख रहे हैं कि 'क्‍या से किसी का हाथ जला देगा.' इन सवालों के बाद भी तेजाब बिना आईडी मांगे बेचा जा रहा है.
Read More

मनोरंजन

See More

एसिड अटैक पर 'छपाक' बनाने वाली दीपिका पादुकोण की टीम ने एक दिन में खरीदीं 24 तेजाब की बोतल!

हमारे देश में एसिड बड़ी आसानी से बिकता था, जिसकी वजह से लड़कियों पर एसिड अटैक (Acid Attack) की कई घटनाएं सामने आती थीं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एसिड बेचने और खरीदने दोनों के ही नियमों में कड़ाई की गई. फिल्‍म 'छपाक' (Chhapaak) से पहली बार प्रोड्यूसर बनीं एक्‍ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) ने अपनी इस फिल्‍म में भी ऐसी ही एक एसिड अटैक सर्वाइवर की भूमिका निभाई है. लेकिन अब एक चौंकाने वाला सच सामने आया है. खुद दीपिका पादुकोण की टीम तेजाब खरीदने निकली तो एक दिन में ही पूरी 24 बोतल तेजाब (24 acid bottles) खरीद लाई. दरअसल इस फिल्‍म के दौरान दीपिका ने अपनी टीम के साथ एक स्टिंग ऑपरेशन किया जिसमें उनकी टीम के कुछ लोग भेस बदलकर दुकानों पर तेजाब खरीदने निकले. इस स्टिंग ऑपरेशन में सामने आया कि दुकानों पर अब भी बड़ी आसानी से तेजाब मिल रहा है. इतना ही नहीं, तेजाब की इन बोतलों को बेचने के लिए कोई नियम भी नहीं अपनाए जा रहे हैं. दीपिका की टीम के ये लोग हाउसवाइफ, मकैनिक, स्‍टूडेंट, बिजनेसमैन बनकर यहां पहुंचे. दीपिका ने खुद इस स्टिंग ऑपरेशन में हिस्‍सा लिया और कार में बैठकर ये सब देखा. आप भी देखिए इस स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो. सुप्रीम कोर्ट के कानून के बाद एसिड बेचने और खरीदने, दोनों पर ही सख्‍त नियम हैं. दुकानदार को तेजाब बेचने के लिए लाइसेंस की जरूरत है. जबकि तेजाब खरीदने वालों को आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ दिखाना जरूरी है. इस वीडियो में खरीदने वाले लोग ये तक पूछते दिख रहे हैं कि 'क्‍या से किसी का हाथ जला देगा.' इन सवालों के बाद भी तेजाब बिना आईडी मांगे बेचा जा रहा है.
Read More

यू. पी राज्य

See More

स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन पर सपा ने निकाली सायकिल रैली

लखनऊ. स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन के मौके पर यूपी सरकार और उत्तर प्रदेश की मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने आयोजन को लेकर दो-दो हाथ किया. योगी सरकार ने जहां 'राष्ट्रीय युवा उत्सव' के तौर पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में किया. वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा से जुड़े छात्रों, नौजवानों द्वारा रोजगार के लिए लखनऊ में साइकिल यात्रा का आयोजन किया. काकोरी से निकाली साइकिल रैली दरअसल स्वामी विवेकानंद का जन्म दिवस युवाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है लेकिन सरकार और समाजवादी पार्टी के आमने-सामने आने से राजधानी लखनऊ में अलग ही माहौल नजर आया. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लखनऊ की सड़कों पर ना सिर्फ अपना दम दिखाया बल्कि 30 किलोमीटर से ज़्यादा लंबी साइकिल यात्रा भी की. जगह-जगह सपा कार्यकर्ताओं ने काकोरी ने निकली साइकिल यात्रा में टोलियों के माध्यम से शिरकत की. जनेश्वर मिश्र पार्क में सपाइयों का जत्था हज़ारों में तब्दील हो गया. इस मौके पर समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी कहा कि भाजपा शासन में शिक्षा मंहगी हुई हो गयी है. हर मुद्दे पर योगी सरकार फेल चौधरी ने कहा कि सरकार लगातार अलोकतांत्रिक कदम उठा रही है. आम जनता की कहीं सुनवाई नहीं है. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी अपने चरम पर है. वहीं कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी सरकार फेल है. दमनकारी सरकार की नींद को खोलने के लिए हमने साइकिल यात्रा का प्रण राष्ट्रीय अध्यक्ष की प्रेरणा स्रोत से लिया है.
Read More

खेल

See More

पोंटिंग ने स्मिथ की जमकर तारीफ की

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में शुमार रिकी पोंटिंग ने स्टीव स्मिथ की जमकर तारीफ की है। स्मिथ ने एशेज सीरीज के जारी चौथे टेस्ट की पहली पारी में डबल सेंचुरी ठोकी, जिसके लिए पूरा क्रिकेट वर्ल्ड उनकी तारीफ कर रहा है। पोंटिंग ने स्मिथ को जीनियस कहा है। स्मिथ मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर जारी चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन 211 रन बनाकर आउट हुए। बॉल टेंपरिंग मामले में 12 महीने बैन झेलने के बाद लौटे स्मिथ जबर्दस्त फॉर्म में हैं। एशेज सीरीज का पहला टेस्ट एजबेस्टन में खेला गया, जहां स्मिथ ने दोनों पारियों में सेंचुरी ठोकी, इसके बाद लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में स्मिथ ने 92 रन बनाए, जिस दौरान जोफ्रा आर्चर की गेंद पर वो चोटिल भी हो गए थे। इसके चलते वो दूसरी पारी में खेल नहीं सके और फिर तीसरा टेस्ट भी नहीं खेल पाए।
Read More

राष्ट्र

See More

निर्भया का गुनाहगार मुकेश माँ से मिलकर फफक पड़ा

नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप केस के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी की सज़ा दी जाएगी. फांसी से पहले दोषियों के परिवारवाले इनसे मिलने के लिए तिहाड़ जेल पहुंच रहे हैं. इसी कड़ी में शनिवार को जेल प्रशासन ने दोषी मुकेश सिंह को परिवारवालों को मिलने की इजाजत दी. अंग्रेजी अखबार के द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, मां से मिलते ही वह भावूक हो गया और फूट-फूटकर रोने लगा. कहा जा रहा है कि मुलाकात के दौरान वो कई बार रोया, लेकिन इस दौरान परिवारवालों ने उसे ये समझाया कि सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पेटिशन डाला गया है और ऐसे में जल्द सब ठीक हो जाएगा. साथ ही उन्होंने दया याचिका के बारे में भी बताया. जेल अधिकारियों के मुताबिक ये फिलहाल आखिरी मुलाकात जैसा नहीं था. नियमों के मुताबिक उन्हें हफ्ते में दो बार परिवार से मिलने की इजाजत दी गई है. बदल गया व्यवहार जैसे-जैसे फांसी की तारीख नज़दीक आ रही है दोषियों का डर बढ़ता जा रहा है. कहा जा रहा है कि निर्भया के चारों दोषियों ने फिलहाल जेल में किसी से भी बातचीत करना बंद कर दिया है. पिछले हफ्ते जेल कर्मी से किसी बात पर बहस के दौरान हाथापाई की नौबत भी आ गई थी. सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका बता दें कि निर्भया केस में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट से डेथ वारंट जारी होने के बाद दो दोषियों की ओर से क्यूरेटिव याचिका दायर की गई है. सुप्रीम कोर्ट में इस पर 14 जनवरी को सुनवाई होगी. इसी दिन पता चल जाएगा कि निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जाएगी या फिर अभी दोषियों को कुछ दिन की और मोहलत मिलेगी. याचिका में फांसी की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग की गई है. विनय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट सहित सभी अदालतों ने मीडिया और नेताओं के दबाव में आकर उन्हें दोषी ठहराया है. गरीब होने के कारण उसे मौत की सजा सुनाई गई है.
Read More