Trending
  • यू. पी राज्य
    img1

    भीम आर्मी की पार्टी बनाने की घोषणा से बसपा में हलचल, कई बड़े नेता बदल सकते है पाला

    Read More
  • मनोरंजन
    img1

    जब टाइगर श्रॉफ के घर का बेड तक बिक गया, जमीन पर सोना पड़ा था आज सबसे बड़ा एक्शन स्टार

    Read More
  • यू. पी राज्य
    img1

    उर्जामंत्री ने अधिकारीयों की लगाई क्लास, गलत बिजली बिल भेजने वालों पर FIR के आदेश

    Read More
  • राष्ट्र
    img1

    शाहीन बाग में लगाई गई धारा 144, भारी पुलिस बल तैनात

    Read More
  • आस-पास
    img1

    पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया 50 हजार का इनामी मान सिंह

    Read More
  • राष्ट्र
    img1

    भव्य राम मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट की पहली बैठक आज, कब से और कैसे बनेगा मंदिर फैसला संभव

    Read More
  • राष्ट्र
    img1

    भारत दौरे से पहले बोले ट्रंप, मोदी मुझे बहुत पसंद, लेकिन अभी भारत के साथ ट्रेड डील नहीं

    Read More
  • मनोरंजन
    img1

    बिग बॉस के आसिम रियाज को शाहरुख की बेटी सुहाना के साथ मिली ये बड़ी फिल्म!

    Read More

भीम आर्मी की पार्टी बनाने की घोषणा से बसपा में हलचल, कई बड़े नेता बदल सकते है पाला

लखनऊ भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने अपनी नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है. चंद्रशेखर की नई पार्टी का औपचारिक ऐलान होली के बाद 15 मार्च को होगा. चंद्रशेखर की नई पार्टी के ऐलान के साथ ही बहुजन समाज पार्टी में हलचल बढ़ गई है. बताया जा रहा है कि चंद्रशेखर की नई पार्टी में बसपा के कई पूर्व एमएलसी और लोकसभा प्रत्याशी शामिल हो सकते हैं. नई पार्टी के गठन के सिलसिले में रविवार को चंद्रशेखर लखनऊ पहुंचे थे. डालीबाग के वीआईपी गेस्ट हाउस में चंद्रशेखर से कई लोगों ने मुलाकात की. इसमें बहुजन समाज पार्टी के कई पूर्व नेता शामिल थे. सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान कई पूर्व एमएलसी और लोकसभा के प्रत्याशी रहे नेताओं ने चंद्रशेखर से मुलाकात की. इतना ही नहीं भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने कई नेताओं को पार्टी की सदस्यता भी दिलाई. बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रामलखन चौरसिया, पूर्व बीएसपी नेता इजहारुल हक और अशोक चौधरी ने भीम आर्मी की सदस्यता ग्रहण की. 'राजनीति महत्वाकांक्षा नहीं बल्कि मजबूरी' भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर का कहना है कि राजनीति उनकी महत्वाकांक्षा नहीं, बल्कि मजबूरी है. उन्होंने बताया कि पार्टी अपने मौजूदा स्वरूप में संगठन के समानांतर काम करती रहेगी. भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने कहा कि वह दिसंबर में एक राजनीतिक दल के गठन की घोषणा करना चाहते थे, लेकिन CAA लागू होने के कारण यह काम रुक गया. उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ लड़ना चुनाव लड़ने से ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया था. भीम आर्मी चीफ ने बटोरी सुर्खियां पिछले कुछ महीनों में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने अपने भाषणों और गिरफ्तारियों के लिए मीडिया में काफी सुर्खियां बटोरीं. वह दिल्ली में CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान 'पोस्टर-बॉय' बनते दिखे. 37 साल के चंद्रशेखर का कहना है कि उनके पास कुछ बड़े प्लान हैं. तिहाड़ जेल से जमानत पर रिहा होने के लगभग एक हफ्ते बाद चंद्रशेखर को 26 जनवरी को हैदराबाद में हिरासत में लिया गया था. वह वहां सीएए के मुद्दे पर छात्रों को संबोधित करने वाले थे. इसके बाद 29 जनवरी को उन्हें बेंगलुरु के एक कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेना था लेकिन इसको भी रद्द करना पड़ा

जब टाइगर श्रॉफ के घर का बेड तक बिक गया, जमीन पर सोना पड़ा था आज सबसे बड़ा एक्शन स्टार

बॉलीवुड एक्शन और डांसिंग सुपरस्टार टाइगर श्रॉफ आज 30 साल के हो गए हैं. हाल में उन्होंने हृतिक रोशन के साथ साल 2019 की सबसे बड़ी हिट फिल्म 'वॉर' डिलीवर किया. इस वक़्त वो अपनी करियर के पीक पर हैं, लेकिन स्टार किड होने के बावजूद टाइगर ने बचपन में कई कठिनाइयां देखी हैं. पैसे की कमी की वजह से उन्हें बेड बेचना पड़ा था और जमीन तक पर सोना पड़ता था. दरअसल टाइगर के पापा मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ हैं और उनकी मॉ का नाम आएशा श्रॉफ है. जी क्यू मैगज़ीन से बात करते हुए टाइगर ने खुद बताया था की साल 2003 में आएशा ने एक फिल्म को प्रोड्यूस किया. फिल्म का टाइटल 'बूम' (Boom) था. ये फिल्म कैटरीना कैफ की पहली फिल्म थी. यह फिल्म रिलीज़ से पहले ही लीक हो गयी और बाद में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हुई. फिल्म के फ्लॉप होने के कारण जैकी और आयशा को उनके बांद्रा वाले घर को बेचना पड़ा और खार शिफ्ट होना पड़ा टाइगर उस वक़्त सिर्फ 11 साल के थे मगर उन्हें सब कुछ समझ आ रहा था की ये सब क्या हो रहा है. आगे टाइगर ने कहा 'मुझे याद है की एक एक करके घर के फर्नीचर और सामान बेचने पड़ रहे थे. मेरी मां की पेंटिंग्स, लैम्प्स. जिन भी चीज़ों को देखकर बड़ा हुआ था वो सभी चीज़ें धीरे धीरे बेचनी पड़ीं. फिर एक दिन मेरा बेड भी बेचना पड़ गया. मुझे फिर जमीन पर सोना पड़ा. ये मेरी जिंदगी का सबसे बुरा दौर था और सबसे बुरी फीलिंग थी. मैं 11 साल की उम्र में ही काम करना चाहता था मगर मुझे पता थ कि मैं इस वक़्त कुछ भी नहीं कर सकता'. जब टाइगर एक्टर बने तो उन्होंने अपनी माँ से वादा किया था की वो पुराने बंगले को वापस खरीद लेंगे. जैकी श्रॉफ को और आएशा को ये बात बहुत पसंद आयी मगर उन्होंने इसी घर में रहने का फैसला लिया. हालाँकि पीछे सप्ताह टाइगर ने अपने पेरेंट्स को एक नया घर खरीद कर गिफ्ट किया है. बात करें वर्क फ्रंट की तो टाइगर इन दिनों अपनी फिल्म 'बागी 3' के प्रोमोशन्स में बिजी हैं. फिल्म के ट्रेलर से पता चल रहा है कि फिल्म में जबरदस्त एक्शन देखने को मिलेगा. ये फिल्म 2016 में आयी 'बागी' और 2018 में आई 'बागी 2' का सीक्वल है. दोनों ही फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जमकर कमाई की थी. इस फिल्म में टाइगर के साथ श्रद्धा कपूर और रितेश देशमुख देखने को मिलेंगे. साथ ही टाइगर हॉलीवुड फिल्म 'रैम्बो' के हिंदी रीमेक में भी दिखाई देंगे और 2014 में आई उनकी फिल्म 'हीरोपंती' के सीक्वल 'हीरोपंती 2' में लीड रोल में नजर आएंगे

उर्जामंत्री ने अधिकारीयों की लगाई क्लास, गलत बिजली बिल भेजने वालों पर FIR के आदेश

लखनऊ. उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने शनिवार को लखनऊ में बिजली विभाग के आला-अधिकारियो की एक अहम बैठक की. इस बैठक में लापरवाह बिजली अधिकारियो को एक-एक कर खड़ा करते हुए न सिर्फ उनकी जमकर क्लास लगाई. बल्कि इस दौरान बिजली उपभोक्ताओं को लगातार गलत बिल भेजे जाने से भड़के ऊर्जामंत्री नें तत्काल गलत बिलिंग करने वाली एजेंसियो के खिलाफ एफआईआर कराने के निर्देश जारी कर दिये. दरअसल, उर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा बीते शुक्रवार को राजधानी लखनऊ स्थित चिनहट शिवपुरी बिजली उपकेन्द्र का निरीक्षण करने पहुचे थे. वहां मौजूद बिजली उपभोक्ताओं ने जब उर्जामंत्री को बिजली विभाग के अधिकारियो की लापरवाही से बिजली बिल के लिये दर-दर भटकने की बात बताई तो श्रीकांत शर्मा ने विभागीय लापरवाही के लिए उनसे माफ़ी मांगी. साथ ही जल्द इसके जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था. जिसके बाद शनिवार को श्रीकांत शर्मा ने बिजली विभाग के आला-अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक करते हुए सभी उपभोक्ताओं को विभागीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने के साथ ही गलत बिलिंग करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए. साथ ही राजधानी लखनऊ के हर एक फीडर को स्मार्ट बनाने के लिए जेसी से एमडी तक की जवाबदेही भी तय किये जाने के निर्देश जारी कर दिए. उर्जा मंत्री ने कही ये बात उर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि 'कई जगहो से सही बिल न मिलने की शिकायत मिली है. हमने आदेश दिया है कि उपभोक्ताओं को गलत बिल भेजने वाली एजेंसियो का चिन्हित किया जाय और ऐसी एजेसिंयो के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई कराई जाय. इसके साथ ही सूबे के सभी एसडीओ को निर्देश दिये गये हैं कि उपभोक्ताओं के बिलों की गड़बड़ी को अविलंब सही किया जाय. ताकि उपभोक्ता को कोई असुविधा न हो. उपभोक्ता देवो भव: की तर्ज पर हमारी सरकार काम कर रही है. 1912 हमारा हेल्पलाईन नंबर है. जिस पर उपभोक्ता अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है. सभी अधिकारियों को उपभोक्ताओं की समस्याओं का तत्काल समाधान करने के साथ ही साथ उन्हे सरचार्ज माफी योजना का भी लाभ दिलाने का निर्देश दिया गया है.'

शाहीन बाग में लगाई गई धारा 144, भारी पुलिस बल तैनात

नई दिल्‍ली नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और NRC के विरोध में देश की राजधानी दिल्‍ली के शाहीन बाग इलाके में दो महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त से लोग धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच, हिन्‍दू सेना ने शाहीन बाग में जवाबी विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया था. हालांकि, हिन्‍दू सेना ने 29 फरवरी को इस घोषणा को वापस ले लिया था. इसके बावजूद दिल्‍ली पुलिस ने एहतियातन इलाके में दिनभर के लिए धारा 144 लगा दिया है, ताकि एक जगह ज्‍यादा लोग इकट्ठा न हो सकें. बता दें कि उत्‍तर-पूर्वी दिल्‍ली में हिंसा के खिलाफ शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 1 मार्च को ही शांति मार्च निकालने की घोषणा की है. शाहीन बाग मामले में दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर डीसी श्रीवास्तव ने कहा कि एहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है. पुलिस का मकसद है कि शांति और कानून-व्यवस्था बनी रहे. किसी भी तरह की अप्रत्याशित घटना के लिए पुलिस ने ये तैयारियां की हैं. दरअसल, हिन्‍दू सेना ने 1 मार्च को शाहीन बाग में विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया था. कई और छोटे-मोटे संगठनों ने इसकी घोषणा की थी. पुलिस ने बताया कि इस ऐलान के बाद उन्‍होंने हिन्‍दू सेना समेत अन्‍य संबंधित संगठनों से इस बाबत बातचीत कर उन्‍हें विरोध-प्रदर्शन न करने के लिए मनाया लिया गया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उत्‍तर-पूर्वी जिले में भड़की हिंसा को देखते हुए शाहीन बाग में एहतियातन धारा 144 लगा दिया गया है. पुलिस ने बताया कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को इससे कोई दिक्‍कत नहीं है, अन्‍य शख्‍स के यहां आने पर उसे हिरासत में ले लिया जाएगा. शाहीन बाग में दो महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त से सीएए-एनआरसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन चल रहा है. प्रदर्शनकारी के बीच सड़क पर बैठने से इस मार्ग पर यातायात कई सप्‍ताह से ठप है. यह मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है. शीर्ष अदालत ने मामले की समाधान के लिए वार्ताकार भी नियुक्त किया था, जिन्‍होंने अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दी है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई को 23 मार्च तक के लिए टाल दिया है.

पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया 50 हजार का इनामी मान सिंह

कौशाम्बी कौशाम्बी के चरवा इलाके शनिवार देर शाम पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ (Encounter) हो गई. पुलिस व एसओजी टीम की संयुक्त करवाई में मुठभेड़ के बाद 50 हजार का इनामी बदमाश मानसिंह को धर दबोचा. पैर में गोली लगने से जख्मी बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के मखई का पूरा निवासी मानसिंह 50 हजार रुपये का इनामिया बदमाश है. उसके खिलाफ विभिन्न थानों में लूट आदि के मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस को मानसिंह की पिछले छह महीने से तलाश थी. जानकारी के मुताबिक मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि मानसिंह मूरतगंज की ओर से बाइक से आ रहा है. सूचना पर चरवा पुलिस के साथ एसओजी सक्रिय हुई और काजू के नजदीक ईंट भट्ठे के पास पुलिस ने मानसिंह को रोकने का प्रयास किया. पुलिस को देखते ही मानसिंह ने फायर झोंक दिया. पुलिस ने अपने बचाव में जवाबी फायरिंग की. इस दौरान एक गोली मानसिंह के पैर में जा लगी. इससे वह दर्द से कराह उठा. पुलिस ने घेराबंदी कर मानसिंह को पकड़ लिया. वहीं जख्मी बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. फिलहाल पुलिस की टीम बदमाश से पूछताछ में जुटी है.

भव्य राम मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट की पहली बैठक आज, कब से और कैसे बनेगा मंदिर फैसला संभव

अयोध्या/नई दिल्ली 
अयोध्या में राम मंदिर कब और कैसे बनेगा इसपर पहली बैठक आज होने जा रही है। यह मीटिंग सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केंद्र सरकार द्वारा गठित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की होगी। इसमें मंदिर निर्माण शुरू करने के मुहूर्त समेत कई मुद्दों पर चर्चा होगी। सूत्रों के मुताबिक, ट्रस्ट के कई सदस्य सरयू तट तक राम कॉम्प्लेक्स बनाने के पक्ष में हैं। बैठक में इसके लिए और जमीन लेने पर भी चर्चा होगी। 

जनता से पैसा लेंगे या नहीं? इसपर चर्चा 
राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक दिल्ली में ग्रेटर कैलाश-1 स्थित कार्यालय में बुलाई गई है। इस दौरान आम जनता से धन का सहयोग लेने जैसे मुद्दों पर भी फैसला लिया जा सकता है, ताकि भविष्य में किसी तरह का विवाद न हो। ट्रस्ट इस पर भी विचार करेगा कि निर्माण कार्य के दौरान रामलला की मूर्ति कहां रखी जाए। बैठक में अयोध्या के मास्टर प्लान पर भी चर्चा होगी। 
इस मीटिंग के लिए ट्रस्ट के तीन सदस्य महंत दिनेंद्र दास, राजा विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र और डॉ. अनिल मिश्र मंगलवार को अयोध्या से रवाना हो गए थे। ट्रस्ट के सदस्यों से निमंत्रण मिलने पर राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास भी दिल्ली रवाना हुए। नृत्य गोपाल दास के अलावा वीएचपी के चंपत राय भी बैठक में शामिल होंगे। 

2 अप्रैल से मंदिर निर्माण शुरू होगा? 
इस बात की संभावना प्रबल है कि राम नवमी यानी 2 अप्रैल से मंदिर निर्माण शुरू करने की तारीख का ऐलान हो सकता है। महंत नृत्य गोपाल दास को ट्रस्ट में शामिल करने को लेकर भी बैठक में फैसला हो सकता है। केंद्र की मोदी सरकार ने इसी महीने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों का ऐलान किया था। 15 सदस्यीय ट्र्स्ट में अभी के परासरन समेत 9 सदस्य हैं। 
भूमि पूजन 25 मार्च से 8 अप्रैल के बीच 
ट्रस्ट सबसे पहले मंदिर निर्माण की तारीख तय करेगा। भूमि पूजन 25 मार्च से 8 अप्रैल के बीच हो जाएगा, लेकिन निर्माण कार्य शुरू करने में अभी वक्त लगेगा। ट्रस्ट मंदिर निर्माण स्थल की मिट्टी की जांच करवाने के लिए भूगर्भ शास्त्रियों और वास्तु शास्त्रियों से राय ले रहा है। मंदिर निर्माण का जिम्मा किस कंपनी को सौंपा जाए, इस मुद्दे पर भी बैठक में फैसला लिया जाएगा। मंदिर को भव्य बनाने पर भी विचार होगा। दावा है कि ट्रस्ट अब चाहता है कि मंदिर भव्य बने और मॉडल को बदलना भी ना पड़े। हालांकि, ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल का कहना है कि इतने सारे कामों को एक बैठक में तय नहीं किया जा सकता। 

भारत दौरे से पहले बोले ट्रंप, मोदी मुझे बहुत पसंद, लेकिन अभी भारत के साथ ट्रेड डील नहीं

नई दिल्ली/वॉशिंगटन 
अमेरिकी राष्ट्रपति 
डॉनल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान अमेरिका के साथ ट्रेड डील पर आशंका के बादल मंडरा गए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत के साथ ट्रेड डील पर आशंका जाहिर की है। ट्रंप ने कहा कि वह भारत के साथ एक बहुत बड़ी ट्रेड डील करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें नहीं मालूम कि यह अमेरिकी चुनाव से पहले हो पाएगाी या फिर नहीं। हालांकि ट्रंप ने पीएम मोदी को लेकर कहा कि वह उन्हें बहुत पसंद करते हैं। भारत और अमेरिकी के व्यापारिक रिश्ते पर ट्रंप ने कहा कि भारत ने हमारे साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया है। लेकिन उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें भारत दौरे से काफी उम्मीदें हैं। 

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं। माना जा रहा था कि अमेरिका और भारत के बीच इस दौरान एक बड़े द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर हो सकते हैं। ट्रंप से जब इस बात को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'हम भारत के साथ एक बहुत बड़ी ट्रेड डील करना चाहते हैं। हम यह करेंगे। मुझे नहीं पता कि क्या यह अमेरिकी चुनाव से पहले संभव हो पाएगी। लेकिन हम भारत के साथ एक बड़ी ट्रेड डील करने जा रहे हैं।' सूत्रों के मुताबिक, अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ भारतीय दौरे पर नहीं आ रहे हैं। हालांकि, अधिकारियों ने इसे पूरी तरह खारिज नहीं किया है। 

भारत के साथ ट्रेड संबंधों से असंतोष जाहिर करते हुए उन्होंने कहा, 'भारत ने हमारे साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया है।' हालांकि उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की और बताया कि वह भारतीय दौरे के लिए उत्सुक हैं। ट्रंप ने कहा, 'मैं पीएम मोदी को बहुत पसंद करता हूं। उन्होंने मुझे बताया कि एयरपोर्ट और कार्यक्रम स्थल के बीच 70 लाख लोग होंगे। स्टेडियम, मुझे पता है कि यह सेमी अंडर कंस्ट्रक्शन है, लेकिन यह दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम होगा। इसलिए यह बहुत दिलचस्प होगा।....मुझे आशा है आप इसे पसंद करेंगे।' 

बिग बॉस के आसिम रियाज को शाहरुख की बेटी सुहाना के साथ मिली ये बड़ी फिल्म!

मुंबई. बिग बॉस 13 खत्म हो चुका है और इस सीजन के विनर बने हैं सिद्धार्थ शुक्ला. वहीं इस बार के रनरअप रहे आसिम रियाज , इस सीजन के विजेता तो नहीं बन पाए, लेकिन उन्होंने ऐसी शोहरत हासिल की है कि शो से निकलने के बाद उन्हें बड़े-बड़े ऑफर्स मिलने की खबर आ रही हैं. हाल ही में उनसे जुड़ी एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि आसिम, शाहरुख खान की बेटी सुहाना खान के साथ एक फिल्म में नजर आने वाले हैं. यहां तक कि इस रिपोर्ट में फिल्म का नाम और डायरेक्टर भी बताया जा रहा है. आसिम को इससे पहले कई और रिएलिटी शोज ऑफर किए जाने की खबरें भी आ चुकी हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट की मानें तो आसिम रियाज को बॉलीवुड के सबसे सफल डायरेक्टर्स में से एक करण जौहर ने अपनी फिल्म में लॉन्च करने की तैयारी कर ली है. रिपोर्ट में बताया गया कि आसिम के साथ करण, शाहरुख खान की बेटी सुहाना को भी डेब्यू करवाने जा रहे हैं. इसके साथ ही बताया जा रहा है कि आसिम-सुहाना धर्मा प्रोडक्शन की सक्सेसफुल फ्रेंचाइजी 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' की तीसरी फिल्म से बॉलीवुड में एंट्री लेने जा रहे हैं. हालांकि अभी तक इसका कोई ऑफिशियल एनाउंसमेंट नहीं हुआ है. जाहिर है ऐसे में हम इस खबर की कोई पुष्टि नहीं कर सकते हैं. बता दें कि आसिम रियाज इससे पहले भी एक बड़ी बॉलीवुड फिल्म में दिखाई दे चुके हैं. हालांकि इस फिल्म में उनकी एपीयरेंस ना के बराबर ही थी. वो वरुण धवन की फिल्म 'मैं तेरा हीरो' में एक गुंडे के रोल में दिखाई दिए थे. उस फिल्म से आसिम को कोई पहचान नहीं मिली थी. बात करें आसिम के करियर की तो इस चॉकलेटी कश्मीरी बॉय ने अपना करियर बतौर मॉडल शुरू किया था. बिग बॉस 13 ने आसिम की जिंदगी ही बदल दी. इस शो से पहले शायद ही उन्हें कोई जानता हो लेकिन अब वो टीवी से लेकर सोशल मीडिया तक जाना-पहचाना चेहरा बन चुके हैं. उन्होंने अपनी परफॉर्मेंस के जरिए तगड़ी फैन फॉलोइंग भी तैयार कर ली है. अब देखना होगा कि आसिम को अगला बड़ा ब्रेक कब मिलने वाला है.

एसिड अटैक पर 'छपाक' बनाने वाली दीपिका पादुकोण की टीम ने एक दिन में खरीदीं 24 तेजाब की बोतल!

हमारे देश में एसिड बड़ी आसानी से बिकता था, जिसकी वजह से लड़कियों पर एसिड अटैक (Acid Attack) की कई घटनाएं सामने आती थीं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एसिड बेचने और खरीदने दोनों के ही नियमों में कड़ाई की गई. फिल्‍म 'छपाक' (Chhapaak) से पहली बार प्रोड्यूसर बनीं एक्‍ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) ने अपनी इस फिल्‍म में भी ऐसी ही एक एसिड अटैक सर्वाइवर की भूमिका निभाई है. लेकिन अब एक चौंकाने वाला सच सामने आया है. खुद दीपिका पादुकोण की टीम तेजाब खरीदने निकली तो एक दिन में ही पूरी 24 बोतल तेजाब (24 acid bottles) खरीद लाई. दरअसल इस फिल्‍म के दौरान दीपिका ने अपनी टीम के साथ एक स्टिंग ऑपरेशन किया जिसमें उनकी टीम के कुछ लोग भेस बदलकर दुकानों पर तेजाब खरीदने निकले. इस स्टिंग ऑपरेशन में सामने आया कि दुकानों पर अब भी बड़ी आसानी से तेजाब मिल रहा है. इतना ही नहीं, तेजाब की इन बोतलों को बेचने के लिए कोई नियम भी नहीं अपनाए जा रहे हैं. दीपिका की टीम के ये लोग हाउसवाइफ, मकैनिक, स्‍टूडेंट, बिजनेसमैन बनकर यहां पहुंचे. दीपिका ने खुद इस स्टिंग ऑपरेशन में हिस्‍सा लिया और कार में बैठकर ये सब देखा. आप भी देखिए इस स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो. सुप्रीम कोर्ट के कानून के बाद एसिड बेचने और खरीदने, दोनों पर ही सख्‍त नियम हैं. दुकानदार को तेजाब बेचने के लिए लाइसेंस की जरूरत है. जबकि तेजाब खरीदने वालों को आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ दिखाना जरूरी है. इस वीडियो में खरीदने वाले लोग ये तक पूछते दिख रहे हैं कि 'क्‍या से किसी का हाथ जला देगा.' इन सवालों के बाद भी तेजाब बिना आईडी मांगे बेचा जा रहा है.

स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन पर सपा ने निकाली सायकिल रैली

लखनऊ. स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन के मौके पर यूपी सरकार और उत्तर प्रदेश की मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने आयोजन को लेकर दो-दो हाथ किया. योगी सरकार ने जहां 'राष्ट्रीय युवा उत्सव' के तौर पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में किया. वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा से जुड़े छात्रों, नौजवानों द्वारा रोजगार के लिए लखनऊ में साइकिल यात्रा का आयोजन किया. काकोरी से निकाली साइकिल रैली दरअसल स्वामी विवेकानंद का जन्म दिवस युवाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है लेकिन सरकार और समाजवादी पार्टी के आमने-सामने आने से राजधानी लखनऊ में अलग ही माहौल नजर आया. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लखनऊ की सड़कों पर ना सिर्फ अपना दम दिखाया बल्कि 30 किलोमीटर से ज़्यादा लंबी साइकिल यात्रा भी की. जगह-जगह सपा कार्यकर्ताओं ने काकोरी ने निकली साइकिल यात्रा में टोलियों के माध्यम से शिरकत की. जनेश्वर मिश्र पार्क में सपाइयों का जत्था हज़ारों में तब्दील हो गया. इस मौके पर समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी कहा कि भाजपा शासन में शिक्षा मंहगी हुई हो गयी है. हर मुद्दे पर योगी सरकार फेल चौधरी ने कहा कि सरकार लगातार अलोकतांत्रिक कदम उठा रही है. आम जनता की कहीं सुनवाई नहीं है. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी अपने चरम पर है. वहीं कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी सरकार फेल है. दमनकारी सरकार की नींद को खोलने के लिए हमने साइकिल यात्रा का प्रण राष्ट्रीय अध्यक्ष की प्रेरणा स्रोत से लिया है.

निर्भया का गुनाहगार मुकेश माँ से मिलकर फफक पड़ा

नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप केस के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी की सज़ा दी जाएगी. फांसी से पहले दोषियों के परिवारवाले इनसे मिलने के लिए तिहाड़ जेल पहुंच रहे हैं. इसी कड़ी में शनिवार को जेल प्रशासन ने दोषी मुकेश सिंह को परिवारवालों को मिलने की इजाजत दी. अंग्रेजी अखबार के द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, मां से मिलते ही वह भावूक हो गया और फूट-फूटकर रोने लगा. कहा जा रहा है कि मुलाकात के दौरान वो कई बार रोया, लेकिन इस दौरान परिवारवालों ने उसे ये समझाया कि सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पेटिशन डाला गया है और ऐसे में जल्द सब ठीक हो जाएगा. साथ ही उन्होंने दया याचिका के बारे में भी बताया. जेल अधिकारियों के मुताबिक ये फिलहाल आखिरी मुलाकात जैसा नहीं था. नियमों के मुताबिक उन्हें हफ्ते में दो बार परिवार से मिलने की इजाजत दी गई है. बदल गया व्यवहार जैसे-जैसे फांसी की तारीख नज़दीक आ रही है दोषियों का डर बढ़ता जा रहा है. कहा जा रहा है कि निर्भया के चारों दोषियों ने फिलहाल जेल में किसी से भी बातचीत करना बंद कर दिया है. पिछले हफ्ते जेल कर्मी से किसी बात पर बहस के दौरान हाथापाई की नौबत भी आ गई थी. सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका बता दें कि निर्भया केस में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट से डेथ वारंट जारी होने के बाद दो दोषियों की ओर से क्यूरेटिव याचिका दायर की गई है. सुप्रीम कोर्ट में इस पर 14 जनवरी को सुनवाई होगी. इसी दिन पता चल जाएगा कि निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जाएगी या फिर अभी दोषियों को कुछ दिन की और मोहलत मिलेगी. याचिका में फांसी की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग की गई है. विनय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट सहित सभी अदालतों ने मीडिया और नेताओं के दबाव में आकर उन्हें दोषी ठहराया है. गरीब होने के कारण उसे मौत की सजा सुनाई गई है.

मऊ में सपा नेता की गोली मारकर नृशंस हत्या

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली के कोपागंज ब्लॉक क्षेत्र के बरजला शेखवलिया गांव निवासी पूर्व प्रधान बिजली यादव की रविवार सुबह बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। सुबह जब एसपी नेता बिजली यादव घर से टहलने के लिए निकले थे, तभी गांव के बाहर बदमाशों ने गोली मारकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया। रविवार की सुबह यह घटना उस समय हुई जब एसपी नेता व पूर्व प्रधान बिजली यादव अपने गांव के पास रोड पर टहल रहे थे। उसी समय बाइक पर सवार होकर आए बदमाश उनको गोली मारकर फरार हो गए। गोली लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना की सूचना मिलते ही मौके पर कई थानों की पुलिस पहुंच गई। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने भी घटना का जायजा लिया। इस घटना की सूचना मिलते ही जिले के एसपी नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ भी घटनास्थल पर एकत्र हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा। इस दौरान एसपी एमएलसी राम जतन राजभर ने कहा कि मृतक बिजली यादव साफ छवि के मिलनसार व्यक्ति थे। उनकी किसी से भी कोई दुश्मनी नही थी। वहीं पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सूचना मिलने के बाद डॉग स्क्वॉड सहित तमाम टीमों को जांच पड़ताल के लिए लगा दिया गया है। मृतक की पत्नी की तहरीर पर केस दर्ज किया जा रहा है। घटना को अंजाम देने वालों को जल्द गिरफ्तार कर सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

हमने नागरिकता कानून नागरिकता देने के लिए बनाया, छीनने के लिए नही: मोदी

कोलकाता. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर कोलकाता में हैं. पीएम मोदी ने रविवार सुबह रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय बेलूर मठ में ध्यान लगाया. प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को कोलकाता पहुंचे थे और रात उन्होंने मठ में ही बिताई थी. पीएम मोदी की मठ में ठहरने की मुख्य वजह रविवार को स्वामी विवेकानंद जयंती बताई जा रही है. गौरतलब है कि पीएम मोदी शनिवार शाम कोलकाता पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं सालगिरह के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा मैं पश्चिम बंगाल सरकार का आभारी हूं, जिन्होंने प्रोटोकॉल तोड़कर बेलूर मठ में रात बिताने का मौका दिया. उन्होंने कहा कि मेरा अतीत बेलूर मठ से जुड़ा है. बेलूर मठ में मुझे सिखाया गया था जनसेवा ही प्रभु सेवा है. पीएम मोदी ने कहा कि बेलूर मठ की धरती पर आना मेरे लिए तीर्थयात्रा करने जैसा है. उन्होंने कहा कि पिछली बार जब यहां आया था तो गुरुजी, स्वामी आत्मआस्थानंद जी के आशीर्वचन लेकर गया था. आज वो शारीरिक रूप से हमारे बीच विद्यमान नहीं हैं. लेकिन उनका काम, उनका दिखाया मार्ग, रामकृष्ण मिशन के रूप में सदा हमारा मार्ग प्रशस्त करता रहेगा. भारत सरकार ने रातों रात कोई कानून नहीं बनाया : पीएम मोदी बेलूर मठ में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा इस देश के युवाओं से भारत को ही नहीं दुनिया को भी बड़ी अपेक्षाएं हैं. नागरिकता कानून पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, भारत सरकार ने रातों रात कोई कानून नहीं बनाया है. देश में इसको लेकर काफी चर्चा हुई, लेकिन इसको लेकर युवाओं में भ्रम फैलाया गया. इस कानून के मुताबिक किसी भी देश का कोई भी व्यक्ति जो भारत से आस्था रखता है वह भारत की नागरिक हो सकता है. पीएम मोदी ने कहा कि नागरिकता एक्ट किसी भी नागरिकता छीनता नहीं बल्कि नागरिकता देता है. उन्होंने कहा नागरिकता कानून को लेकर कुछ युवा गलतफहमी का शिकार हैं. युवाओं के मन में कुछ लोग भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा, हमने नागरिकता कानून का सरल किया. पीए मोदी ने कहा, मैं फिर कहूंगा, सिटिजनशिप एक्ट, नागरिकता लेने का नहीं, नागरिकता देने का कानून है और सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट, उस कानून में सिर्फ एक संशोधन है. उन्होंने कहा, इतनी स्पष्टता के बावजूद, कुछ लोग सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट को लेकर भ्रम फैला रहे हैं. मुझे खुशी है कि आज का युवा ही ऐसे लोगों का भ्रम भी दूर कर रहा है. उन्होंने कहा और तो और, पाकिस्तान में जिस तरह दूसरे धर्म के लोगों पर अत्याचार होता है, उसे लेकर भी दुनिया भर में आवाज हमारा युवा ही उठा रहा है. बेलूर मठ की स्थापना स्वामी विवेकानंद ने 1 मई 1897 में की थी बता दें कि हावड़ा जिले के बेलूर में स्थित इस मठ की स्थापना स्वामी विवेकानंद ने 1 मई 1897 में की थी. इस मठ को बनाने का उद्देश्य उन साधुओं-संन्यासियों को संगठित करना था जो रामकृष्ण परमहंस की शिक्षाओं में गहरी आस्था रखते थे. इन साधुओं और संन्यासियों का काम था कि वह रामकृष्ण परमहंस के उपदेशों को जनसाधारण तक पहुंचाए और गरीब, दुखी और कमजोर लोगों की नि:स्वार्थ भाग से सेवा कर सकें. इस मठ में स्वामी विवेकानंद और उनके गुरु रामकृष्ण परमहंस की स्मृति संजो कर रखी गई है. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर जताई थी खुशी गौरतलब है कि बेलूर मठ के स्वामी जी मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं काफी उत्साहित हूं कि आज और कल का दिन मैं बंगाल में बिताऊंगा. मुझे रामकृष्ण मिशन में समय व्यतीत करते हुए खुशी हो रही है वो भी तब जब हम स्वामी विवेकानंद की जयंती मना रहे हैं. बेलूर मठ हमेशा से ही मेरे लिए काफी खास रहा है.'इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट कर रामकृष्ण मिशन के पूर्व अध्यक्ष स्वामी आत्मास्थानंद जी महाराज को याद किया. उन्होंने कहा-एक शून्यता होगी. जिस व्यक्ति ने मुझे 'जन सेवा ही प्रभु सेवा' की सीख दी, वे स्वामी आत्मास्थानंद जी महाराज वहां नहीं होंगे. रामकृष्ण मिशन में उनकी उपस्थिति न होना अकल्पनीय है. आज पूरा देश मना रहा है स्वामी विवेकानंद की जयंती स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 में हुआ था. स्वामी विवेकानन्द वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थे. उनका वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था. उन्होंने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था.

दीपिका की छपाक और अजय देवगन की तांहाजी मे कड़ी टक्कर

मुंबई: नए साल के साथ अजय देवगन और दीपिका पादुकोण की टक्कर बड़े पर्दें पर दिखाई दे रही है. दीपिका पादुकोण की 'छपाक' और अजय देवगन की 'तान्हाजी: द अनसंग वॉरियर' में कांटे की टक्कर चल रही है. दोनों फिल्म 10 जनवरी को रिलीज हुई है. वेबसाइट बॉक्स ऑफिस इंडिया ने दोनों फिल्मों की दूसरे दिन की अर्ली एस्टिमेट्स की रिपोर्ट शेयर की हैं. पहले बात तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर की. ओपनिंग के बाद सिल्वर स्क्रीन पर ये फिल्म अपना परचम लहराने में कामयाब रही है. फिल्म ने धमाके के साथ बॉक्स ऑफिस पर शुरुआत की और दूसरे दिन शनिवार को भी फिल्म ने शानदार कमाई करते हुए एक बड़ा आंकड़ा हासिल कर लिया है. बॉक्स ऑफिस इंडिया के मुताबिक फिल्म ने दूसरे दिन करीब 20 करोड़ रुपये कमाए हैं. फिल्म की दूसरे दिन तक कुल कमाई 34-35 करोड़ रुपये के बीच की है. वहीं, दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पहले दिन 4.77 करोड़ रुपये दर्ज किया गया था. वहीं, शनिवार को इसका कलेक्शन 35-40 प्रतिशत बढ़ते हुए 6 करोड़ रुपये हो गया. दो दिनों में छपाक का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 10.50 करोड़ रुपये दर्ज किया गया है. दीपिका की ये फिल्म मुख्यधारा की बॉलीवुड फिल्मों से काफी अलग है. रविवार को इसका बॉक्स ऑफिस कलेक्शन बढ़ने की उम्मीद है. तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर को महाराष्ट्र के दर्शकों से जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है. फिल्म नॉर्थ सर्किट में भी शानदार प्रदर्शन कर रही है. फिल्म को दर्शकों ने खूब सराहा है और क्रिटिक्स ने भी इस फिल्म को अच्छे मार्क्स दिए हैं. अजय देवगन, काजोल और सैफ अली खान स्टारर और निर्देशक ओम राउत की ये फिल्म लंबी रेस का घोड़ा साबित हो सकती हैं. तान्हाजी का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन बढ़ने के पीछे की एक वजह यह भी है कि 'तान्हाजी' 3880 स्क्रीन्स पर रिलीज हुई है, वहीं दीपिका की 'छपाक' को 1700 स्क्रीन्स ही मिली हैं. तरण आदर्श ने अपने ट्विटर एकाउंट के जरिए इसकी जानकारी शेयर की थी. अब देखना ये है कि दोनों फिल्म रविवार को क्या धमाल करती हैं,

घने कोहरे के कारण कार गिरी नहर में, 6 मरे

नई दिल्ली: ग्रेटर नोएडा में कोहरे के कारण दर्दनाक हादसा हुआ है. तेज रफ्तार कार कोहरे के कारण नहर में गिर गई. इस हादसे में एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई. इस हादसे में अन्य पांच लोग घायल हो गए हैं. उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त कार में एक ही परिवार के 11 लोग सवार थे. वह संभल से दिल्ली जा रहे थे. कार दनकुर इलाके में एक नहर में गिर गई. हादसे में घायल 11 लोगों को अस्पताल ले जाया गया, जहां 6 लोगों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया जबकि बाकी के पांच लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि यह हादसा कोहरे की वजह से हुआ है. बता दें पूरा उत्तर भारत इस वक्त कड़ाके की ठंड से ठिठुर रहा है. जम्मू-कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड से लेकर पूर्वात्तर के राज्यों तक पहाड़ बर्फ की चादर में सफेद हो गए हैं. पहाड़ों पर हो रही बर्फ बारी का असर मैदान और रेगिस्तान में पड़ा है. राजस्थान के चार जिले में तापमान शून्य के नीचे पहुंच चुका है. पंजाब हरियाणा का भी ठंड से बुरा हाल है. सुबह साढ़े पांच बजे राजधानी दिल्ली के सफदरजंद में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है. दिल्ली में आज भी ठंड का रेड अलर्ट है, इसलिए कहीं निकलने से पहले ठंड से बचने के उपाय जरूर कर लें. दिल्ली में कड़ाके की ठंड के साथ घना कोहरा भी छाया हुआ है. कई इलाकों में विजिबिलिटी शून्य हो गई है. कोहरे और ठंड का असर हवाई और रेल यातायात पर भी पड़ रहा है.

मनोरंजन

See More

जब टाइगर श्रॉफ के घर का बेड तक बिक गया, जमीन पर सोना पड़ा था आज सबसे बड़ा एक्शन स्टार

बॉलीवुड एक्शन और डांसिंग सुपरस्टार टाइगर श्रॉफ आज 30 साल के हो गए हैं. हाल में उन्होंने हृतिक रोशन के साथ साल 2019 की सबसे बड़ी हिट फिल्म 'वॉर' डिलीवर किया. इस वक़्त वो अपनी करियर के पीक पर हैं, लेकिन स्टार किड होने के बावजूद टाइगर ने बचपन में कई कठिनाइयां देखी हैं. पैसे की कमी की वजह से उन्हें बेड बेचना पड़ा था और जमीन तक पर सोना पड़ता था. दरअसल टाइगर के पापा मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ हैं और उनकी मॉ का नाम आएशा श्रॉफ है. जी क्यू मैगज़ीन से बात करते हुए टाइगर ने खुद बताया था की साल 2003 में आएशा ने एक फिल्म को प्रोड्यूस किया. फिल्म का टाइटल 'बूम' (Boom) था. ये फिल्म कैटरीना कैफ की पहली फिल्म थी. यह फिल्म रिलीज़ से पहले ही लीक हो गयी और बाद में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हुई. फिल्म के फ्लॉप होने के कारण जैकी और आयशा को उनके बांद्रा वाले घर को बेचना पड़ा और खार शिफ्ट होना पड़ा टाइगर उस वक़्त सिर्फ 11 साल के थे मगर उन्हें सब कुछ समझ आ रहा था की ये सब क्या हो रहा है. आगे टाइगर ने कहा 'मुझे याद है की एक एक करके घर के फर्नीचर और सामान बेचने पड़ रहे थे. मेरी मां की पेंटिंग्स, लैम्प्स. जिन भी चीज़ों को देखकर बड़ा हुआ था वो सभी चीज़ें धीरे धीरे बेचनी पड़ीं. फिर एक दिन मेरा बेड भी बेचना पड़ गया. मुझे फिर जमीन पर सोना पड़ा. ये मेरी जिंदगी का सबसे बुरा दौर था और सबसे बुरी फीलिंग थी. मैं 11 साल की उम्र में ही काम करना चाहता था मगर मुझे पता थ कि मैं इस वक़्त कुछ भी नहीं कर सकता'. जब टाइगर एक्टर बने तो उन्होंने अपनी माँ से वादा किया था की वो पुराने बंगले को वापस खरीद लेंगे. जैकी श्रॉफ को और आएशा को ये बात बहुत पसंद आयी मगर उन्होंने इसी घर में रहने का फैसला लिया. हालाँकि पीछे सप्ताह टाइगर ने अपने पेरेंट्स को एक नया घर खरीद कर गिफ्ट किया है. बात करें वर्क फ्रंट की तो टाइगर इन दिनों अपनी फिल्म 'बागी 3' के प्रोमोशन्स में बिजी हैं. फिल्म के ट्रेलर से पता चल रहा है कि फिल्म में जबरदस्त एक्शन देखने को मिलेगा. ये फिल्म 2016 में आयी 'बागी' और 2018 में आई 'बागी 2' का सीक्वल है. दोनों ही फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जमकर कमाई की थी. इस फिल्म में टाइगर के साथ श्रद्धा कपूर और रितेश देशमुख देखने को मिलेंगे. साथ ही टाइगर हॉलीवुड फिल्म 'रैम्बो' के हिंदी रीमेक में भी दिखाई देंगे और 2014 में आई उनकी फिल्म 'हीरोपंती' के सीक्वल 'हीरोपंती 2' में लीड रोल में नजर आएंगे
Read More

यू. पी राज्य

See More

भीम आर्मी की पार्टी बनाने की घोषणा से बसपा में हलचल, कई बड़े नेता बदल सकते है पाला

लखनऊ भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने अपनी नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है. चंद्रशेखर की नई पार्टी का औपचारिक ऐलान होली के बाद 15 मार्च को होगा. चंद्रशेखर की नई पार्टी के ऐलान के साथ ही बहुजन समाज पार्टी में हलचल बढ़ गई है. बताया जा रहा है कि चंद्रशेखर की नई पार्टी में बसपा के कई पूर्व एमएलसी और लोकसभा प्रत्याशी शामिल हो सकते हैं. नई पार्टी के गठन के सिलसिले में रविवार को चंद्रशेखर लखनऊ पहुंचे थे. डालीबाग के वीआईपी गेस्ट हाउस में चंद्रशेखर से कई लोगों ने मुलाकात की. इसमें बहुजन समाज पार्टी के कई पूर्व नेता शामिल थे. सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान कई पूर्व एमएलसी और लोकसभा के प्रत्याशी रहे नेताओं ने चंद्रशेखर से मुलाकात की. इतना ही नहीं भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने कई नेताओं को पार्टी की सदस्यता भी दिलाई. बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रामलखन चौरसिया, पूर्व बीएसपी नेता इजहारुल हक और अशोक चौधरी ने भीम आर्मी की सदस्यता ग्रहण की. 'राजनीति महत्वाकांक्षा नहीं बल्कि मजबूरी' भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर का कहना है कि राजनीति उनकी महत्वाकांक्षा नहीं, बल्कि मजबूरी है. उन्होंने बताया कि पार्टी अपने मौजूदा स्वरूप में संगठन के समानांतर काम करती रहेगी. भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने कहा कि वह दिसंबर में एक राजनीतिक दल के गठन की घोषणा करना चाहते थे, लेकिन CAA लागू होने के कारण यह काम रुक गया. उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ लड़ना चुनाव लड़ने से ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया था. भीम आर्मी चीफ ने बटोरी सुर्खियां पिछले कुछ महीनों में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने अपने भाषणों और गिरफ्तारियों के लिए मीडिया में काफी सुर्खियां बटोरीं. वह दिल्ली में CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान 'पोस्टर-बॉय' बनते दिखे. 37 साल के चंद्रशेखर का कहना है कि उनके पास कुछ बड़े प्लान हैं. तिहाड़ जेल से जमानत पर रिहा होने के लगभग एक हफ्ते बाद चंद्रशेखर को 26 जनवरी को हैदराबाद में हिरासत में लिया गया था. वह वहां सीएए के मुद्दे पर छात्रों को संबोधित करने वाले थे. इसके बाद 29 जनवरी को उन्हें बेंगलुरु के एक कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेना था लेकिन इसको भी रद्द करना पड़ा
Read More

खेल

See More

पोंटिंग ने स्मिथ की जमकर तारीफ की

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में शुमार रिकी पोंटिंग ने स्टीव स्मिथ की जमकर तारीफ की है। स्मिथ ने एशेज सीरीज के जारी चौथे टेस्ट की पहली पारी में डबल सेंचुरी ठोकी, जिसके लिए पूरा क्रिकेट वर्ल्ड उनकी तारीफ कर रहा है। पोंटिंग ने स्मिथ को जीनियस कहा है। स्मिथ मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर जारी चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन 211 रन बनाकर आउट हुए। बॉल टेंपरिंग मामले में 12 महीने बैन झेलने के बाद लौटे स्मिथ जबर्दस्त फॉर्म में हैं। एशेज सीरीज का पहला टेस्ट एजबेस्टन में खेला गया, जहां स्मिथ ने दोनों पारियों में सेंचुरी ठोकी, इसके बाद लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में स्मिथ ने 92 रन बनाए, जिस दौरान जोफ्रा आर्चर की गेंद पर वो चोटिल भी हो गए थे। इसके चलते वो दूसरी पारी में खेल नहीं सके और फिर तीसरा टेस्ट भी नहीं खेल पाए।
Read More

राष्ट्र

See More

शाहीन बाग में लगाई गई धारा 144, भारी पुलिस बल तैनात

नई दिल्‍ली नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और NRC के विरोध में देश की राजधानी दिल्‍ली के शाहीन बाग इलाके में दो महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त से लोग धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच, हिन्‍दू सेना ने शाहीन बाग में जवाबी विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया था. हालांकि, हिन्‍दू सेना ने 29 फरवरी को इस घोषणा को वापस ले लिया था. इसके बावजूद दिल्‍ली पुलिस ने एहतियातन इलाके में दिनभर के लिए धारा 144 लगा दिया है, ताकि एक जगह ज्‍यादा लोग इकट्ठा न हो सकें. बता दें कि उत्‍तर-पूर्वी दिल्‍ली में हिंसा के खिलाफ शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 1 मार्च को ही शांति मार्च निकालने की घोषणा की है. शाहीन बाग मामले में दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर डीसी श्रीवास्तव ने कहा कि एहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है. पुलिस का मकसद है कि शांति और कानून-व्यवस्था बनी रहे. किसी भी तरह की अप्रत्याशित घटना के लिए पुलिस ने ये तैयारियां की हैं. दरअसल, हिन्‍दू सेना ने 1 मार्च को शाहीन बाग में विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया था. कई और छोटे-मोटे संगठनों ने इसकी घोषणा की थी. पुलिस ने बताया कि इस ऐलान के बाद उन्‍होंने हिन्‍दू सेना समेत अन्‍य संबंधित संगठनों से इस बाबत बातचीत कर उन्‍हें विरोध-प्रदर्शन न करने के लिए मनाया लिया गया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उत्‍तर-पूर्वी जिले में भड़की हिंसा को देखते हुए शाहीन बाग में एहतियातन धारा 144 लगा दिया गया है. पुलिस ने बताया कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को इससे कोई दिक्‍कत नहीं है, अन्‍य शख्‍स के यहां आने पर उसे हिरासत में ले लिया जाएगा. शाहीन बाग में दो महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त से सीएए-एनआरसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन चल रहा है. प्रदर्शनकारी के बीच सड़क पर बैठने से इस मार्ग पर यातायात कई सप्‍ताह से ठप है. यह मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है. शीर्ष अदालत ने मामले की समाधान के लिए वार्ताकार भी नियुक्त किया था, जिन्‍होंने अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दी है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई को 23 मार्च तक के लिए टाल दिया है.
Read More